Home loan कैसे मिलेगा पूरी जानकारी 2019

Home loan कैसे मिलेगा पूरी जानकारी 2019

Home loan कैसे मिलेगा पूरी जानकारी हिंदी में

Home loan कैसे मिलेगा: उधारकर्ता के बोझ को कम करने और खरीदने की क्षमता को बढ़ाने के लिए सरकार Home loan लेने वालों को विभिन्न रूप से प्रोत्साहन प्रदान करती है। आप एक वित्तीय वर्ष के दौरान अपने खुद के घर के Home loan की मूल राशि के लिए किये गए Repayment के लिए धारा 80 सी के तहत 1.5 लाख तक की Deduction का दावा कर सकते हैं। इसके अलावा, आपको स्वयं के घर के लिए उस वर्ष के दौरान किये interest payment के लिए भी 2 लाख रुपए तक की Deduction का दावा करने की अनुमति है।

इसके अलावा, आप भी एक स्वयं के कब्जे वाले घर के लिए वर्ष के दौरान interest payment के खिलाफ अप करने के लिए 2 लाख रुपए की Deduction का दावा करने की अनुमति है। कुछ आम कर नियम हैं जिनके बारे में हम में से ज्यादातर लोग जानते हैं लेकिन कुछ अन्य प्रावधान भी हैं जिनकी जानकारी Home loan लेने वालों को होनी चाहिए।

Home loan से संबंधित टैक्‍स के 5 नियम

1. टैक्‍स में छूट की मांग

आप केवल संपत्ति के निर्माण के पूरा होने के बाद ही Home loan पर interest payment पर मिलने वाली आयकर Deduction concession का दावा कर सकते हैं। आप निर्माण अवधि के अन्तर्गत किये गए किसी भी मूल धन के Repayment पर किसी भी Deduction का दावा नहीं कर सकते, हालांकि पूर्व निर्माण के तहत चुकाए गए interest का, संपत्ति का कब्जा प्राप्त करने के बाद, पांच समान किस्तों में दावा किया जा सकता है।

2. इतनी होती है कटौती

अगर संपत्ति का निर्माण ,ऋण लेने के बाद से, पांच साल के भीतर पूरा नहीं हुआ है (पिछले साल तीन वर्ष से बढ़ा दिया गया था) तो interest Repayment के खिलाफ Deduction 2,00,000 रुपए प्रति वर्ष से घटकर 30,००० रुपए तक ही हो जाती है।

यदि आप Deduction का दावा करने के पांच साल के भीतर संपत्ति बेचते हैं, तो पूरे मूल ऋण की चुकौती के खिलाफ कर में मिलने वाली Deduction वापस करनी पड़ती है| इसके तहत इस राशि को, जिस वर्ष में संपत्ति को बेचा गया है, उस वर्ष की आय के रूप में देखा जाता है और इस पर आयकर का payment करना होता है।

3. अतिरिक्‍त कटौती का लाभ

इस साल से, घर Buyers के Home loan पर चुकाए जाने वाले interest पर 50,000 रुपए का अतिरिक्त कर Deduction का आनंद मिलेगा। इस अतिरिक्त कर Deduction का लाभ उठाने के लिए इन तीन शर्तों का पूरा होना ज़रूरी है।

  • यह Deduction केवल पहली बार घर Buyers के लिए उपलब्ध है
  • घर की संपत्ति पर ऋण 35 लाख रुपए से अधिक नहीं होनी चाहिए
  • घर की संपत्ति का मूल्य 50 लाख रुपए से अधिक नहीं होनी चाहिए

दूसरे घर के मामले में पूरे वर्ष के दौरान payment किया गया interest कर Deduction के लिए पात्र है। यह प्रभावी Home loan की दर को काफी हद तक कम कर देगा क्योंकि इस पूरी राशि को आपकी आय से घटाया जायेगा।

4 .संयुक्‍त होम लेने की शर्त पर

यदि आप एक संयुक्त Home loan लेते हैं, तो मूल ऋण चुकाने के साथ ही interest Repayment चुकाने के लिए दोनों सह उधारकर्ताओं द्वारा आयकर में मिलने वाली concession का अलग से दावा किया जा सकता है। इसके तहत, मूल ऋण चुकाने के खिलाफ 3 लाख रुपए की Deduction और Home loan के interest Repayment के खिलाफ 4 लाख रुपए तक की Deduction का दावा किया जा सकता है, लेकिन इस डबल Deduction का लाभ उठाने के लिए दो शर्तें हैं। सबसे पहले, सह उधारकर्ताओं को संपत्ति का सह मालिक होना चाहिए और दूसरा, वे समान मासिक किश्तों (EMI) का payment करते हों। यदि एक सह उधारकर्ता ईएमआई का payment नहीं कर रहा है, तो वह किसी भी Deduction का दावा नहीं कर सकता।

5. धारा 80C के तहत छूट

आप धारा 80 सी के तहत स्टांप शुल्क और पंजीकरण शुल्क के payment के खिलाफ उसी वर्ष में, जिसमे payment किया गया है, 1.5 लाख रुपए की अधिकतम सीमा तक Deduction का दावा कर सकते हैं।

आप दोनों मकान किराया भत्ता (HRA) और Home loan की Deduction का दावा कर सकते हैं अगर आपने एक Home loan का उपयोग कर के खरीदा है, लेकिन काम की वजह से किराए पर दूसरे शहर में रह रहे हैं।

हमने आपको बताया की Home loan कैसे मिलेगा यदि ये जानकारी आपको अच्छी लगी हो, तो अपने दोस्तों से जरुर share करे।

Leave a Comment